पाकिस्तान की BAT सीमा पार आकर कर सकती है बड़ा हमला

सीमा सुरक्षा बल (बी॰एस॰एफ॰) की एक रिपोर्ट में बॉर्डर पर पाकिस्तान की ओर से BAT के एक्शन की आशंका जताई गई है। भारत-पाकिस्तान सीमा पर तैनात बी॰एस॰एफ॰ ने गृह मंत्रालय को ये रिपोर्ट भेजी है। रिपोर्ट में सीमा के ताजा हालात का जिक्र किया गया है। रिपोर्ट में बताया गया है कि राजौरी सेक्टर के सामने पाकिस्तानी इलाके में एस॰एस॰जी॰ की टुकड़ियों की मूवमेंट देखी गई है। बी॰एस॰एफ॰ की रिपोर्ट के मुताबिक सीमा सुरक्षा में जुटे जवानों ने एस॰एस॰जी॰ की टुकड़ियों को राजौरी सेक्टर के सामने रेकी करते हुए देखा है। इस रिपोर्ट में आने वाले कुछ दिनों में पाकिस्तान की ओर से बॉर्डर एक्शन टीम यानी BAT के हमले की आशंका जताई गई है।

रिपोर्ट में बताया गया है कि एस॰एस॰जी॰ टुकड़ी का नेतृत्व कोई मेजर रैंक का ऑफिसर कर रहा था। वह बॉर्डर से सटे हुए मुजाहिद्दीन बटालियन कैंप में कैंपिंग करते हुए भी देखा गया था। बी॰एस॰एफ॰ के सूत्रों ने आशंका जाहिर की है कि बॉर्डर पर यह मूवमेंट बताती है कि पाकिस्तान की एस॰एस॰जी॰ सीमा पार आकर बॉर्डर एक्शन टीम हमले को अंजाम दे सकती है। बता दें कि बॉर्डर एक्शन टीम को भारतीय सीमा में घुसकर बारूदी सुरंग लगाने के लिए भी जाना जाता है ताकि हमारे एरिया में पेट्रोलिंग कर रहे जवान उसके शिकार बन जाएँ।

गृह मंत्रालय के सूत्रों का कहना है कि पाकिस्तान घाटी में भारी मात्रा में पैसा भेज रहा है। इसके अलावा कश्मीर की आजादी का  प्रोपेगेंडा चलाने (ब्रॉडकास्ट) के लिए पाकिस्तान बॉर्डर के आसपास के रेडियो ट्रांसमिशन टॉवर को अपग्रेड कर रहा है यानि उनकी क्षमता बढ़ा रहा है। यही नहीं सूत्र के मुताबिक पाकिस्तानी सरकार पाक अधिकृत कश्मीर (पीओके) में मीरपुर और मुजफ्फराबाद से होने वाले रेडिया-प्रसारण की फ्रीक्वेंसी भी बढ़ा रहा है ताकि वह अपने  प्रोपेगेंडा युद्ध को घाटी में फैला सके।

इसके अलावा बी॰एस॰एफ॰ द्वारा गृह मंत्रालय को सौंपी गई रिपोर्ट में यह बात भी बताई गई है कि पाकिस्तान अपनी अग्रिम चौकियों पर एयर डिफेंस गन की तैनाती भी कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक अपनी अग्रिम चौकियों को और मजबूत करने के मकसद से पाकिस्तान ने जब्बार, पीर, पांजल, डोट्टिलिया, केजी टॉप जैसी जगहों पर ऐसी तोपें तैनात की हैं।

About सीमा संघोष ब्यूरो

View all posts by सीमा संघोष ब्यूरो →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *