चीन सीमा : भारतीय रेलवे बना रही दुनिया की सबसे ऊंची रेल लाइन

बिलासपुल – मनाली – लेह रेल लाइन : परियोजना का है खास रणनीतिक महत्व, लद्दाख के विकास में भी आयेगी तेजी 

चीन सीमा से चंद किलोमीटर की दूरी पर, लेह-लद्दाख क्षेत्र में भारतीय रेलवे दुनिया की सबसे ऊँची रेल लाइन का निर्माण कर रही है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अपनी कार्यक्षमता का लोहा मनवा चुकी भारतीय रेलवे अब सीमा सुरक्षा की दृष्टि से रणनीतिक रूप से अति महत्वपूर्ण इस परियोजना पर तेजी से कार्य कर रही है। पहले फेज का लोकेशन सर्वे पूरा कर लिया गया है, अगले वर्ष तक लोकेशन सर्वे पूरा हो जाने की उम्मीद है। इसके बाद परियोजना की रिपोर्ट  को अंतिम रूप दिया जायेगा।    

रेलवे इस लाइन को राष्ट्रीय परियोजना घोषित करने जा रही है। भारतीय रेलवे के लिये यह अब तक की सबसे मुश्किल परियोजना मानी जा रही है क्योंकि यह लाइन देश की सबसे दुरूह इलाके में बिछाई जानी है। इस लाइन के बनने के बाद लद्दाख के दुर्गम क्षेत्र में सेना की स्थिति और भी मजबूत होगी, लेह-लद्दाख क्षेत्र के विकास कार्य में तेजी आयेगी और पर्यटन को भी बढ़ावा मिलेगा।

बिलासपुल-मनाली-लेह रेल लाइन से जुड़ी कुछ रोचक जानकारियाँ –

  1. निर्माण पूरा होने पर होगी दुनिया की सबसे ऊँची रेल लाइन
  2. प्रस्तावित खर्च –  83,360 करोड़ रुपए
  3. लंबाई – 465 किलोमीटर
  4. समुद्री तल से ऊँचाई – 5,360 मीटर
  5. भारत-चीन सीमा पर बनने जा रहे कुल रेलवे स्टेशन – 30
  6. सुरंग – 244 किलोमीटर (परियोजना का 52 फीसदी हिस्सा)
  7. परियोजना की सबसे लंबी सुरंग की लंबाई – 27 किलोमीटर

About सीमा संघोष ब्यूरो

View all posts by सीमा संघोष ब्यूरो →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *