महाराष्ट्र के 26 जिलों की 151 तहसीलें सूखाग्रस्त घोषित

39 तहसीलें भीषण सूखाग्रस्त की श्रेणी में, अगले छह महीने तक लागू रहेगी स्थिति

बारिश कम होने और पानी की भारी कमी से जूझ रहे महाराष्ट्र के 26 जिले की 151 तहसीलों को राज्य सरकार ने बुधवार को सूखाग्रस्त घोषित कर दिया। 151 तहसीलों में से 39 को ‘भीषण सूखाग्रस्त’ और 112 तहसीलों को ‘मध्यम स्तरीय सूखाग्रस्त’ की श्रेणी रखा गया है।

सरकार द्वारा पूरे राज्य का विशेष सर्वेक्षण करवाये जाने के बाद इन क्षेत्रों में सूखे की स्थिति अगले छह महीने के लिये घोषित की गयी है। सरकार द्वारा राहत कोष से सूखाग्रस्त किसानों को प्रति हेक्टेयर ₹6800 से ₹13000 तक दिये जाने की घोषणा की गयी है, फसलों के प्रकार के आधार पर राहत राशि वितरित की जायेगी।

राज्य सरकार ने पहले ही इन तहसीलों से संबंधित सभी जिलाधिकारियों को यह आदेश दे दिया था कि इन स्थानों से किसानों से भूमि कर न लिया जाये और कृषि संबंधित बिजली के बिलों में 33% की छूट दी जाये।

सरकार द्वारा अधिकतम आर्थिक सहायता दिये जाने के प्रयास के क्रम में इन क्षेत्रों में रोजगार गारंटी संबंधित सरकारी योजनाओं को भी बड़े स्तर पर लागू करने के निर्देश दिये गये हैं वहीं सरकारी स्कूलों में फीस भी माफ कर दी गयी है।

About सीमा संघोष ब्यूरो

View all posts by सीमा संघोष ब्यूरो →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *