सीमाओं के मायने

सदियों से बनती-बिगड़ती एवम् नया रूप लेती सीमाएँ गाथा है शौर्य की, बलिदान, त्याग, रणनीति एवम् वैचारिक दृढ़ता की। सीमाएँ गाथा इन मूल्यों के कमज़ोर पड़ने की भी है। अतिश्योक्ति …

Read More