स्वातंत्र्यवीर, वीर सावरकर जी के जीवन से जुड़ी कुछ बातें

भारत के अधिकांश लोग आज उस चहरे को भूल गए हैं जिनसे कभी अंग्रेज लोग थर-थर काँप उठते थे। जिन्होंने केवल भारत में ही नहीं, अंग्रेजो के गढ़ लंदन में …

Read More

क्रान्तिकारियों के सिरमौर वीर सावरकर

विनायक दामोदर सावरकर का जन्म ग्राम भगूर (जिला नासिक, महाराष्ट्र) में 28 मई, 1883 को हुआ था। छात्र जीवन में इन पर लोकमान्य तिलक के समाचार पत्र ‘केसरी’ का बहुत …

Read More

क्रान्तिकारी रासबिहारी बोस

25 मई/जन्म-दिवस। बीसवीं सदी के पूर्वार्द्ध में प्रत्येक देशवासी के मन में भारत माता की दासता की बेडि़याँ काटने की उत्कट अभिलाषा जोर मार रही थी। कुछ लोग शान्ति के मार्ग …

Read More

चीन में पी॰एम॰ मोदी का परचम

अप्रैल के आख़िरी हफ्तों में ‘हिन्दी चीनी भाई-भाई’ की रवायत एक बार फिर माहौल में गूँज रही है। ये रिश्ता है एक शक्तिशाली पड़ोस के दूसरे मज़बूत पड़ोस के साथ। …

Read More

आतंकवाद में दृढ़ चट्टान विश्वनाथ जी

24 मई/पुण्य-तिथि। अस्सी के दशक में जब पंजाब में आतंकवाद अपने चरम पर था, उन दिनों बड़ी संख्या में लोग पंजाब छोड़कर अन्य प्रान्तों में जा बसे थे। ऐसे में …

Read More
india vs pakistan-secularism

भारत बनाम पाकिस्तान : क्या वाकई भारत देश में है धर्मनिरपेक्षता को खतरा, जाने क्या है असलियत और कितना धर्मनिरपेक्ष है पाकिस्तान

दिल्ली  के आर्कबिशप की चिट्ठी से ऐसा लग रहा है कि देश में अल्पसंख्यकों के साथ बहुत गलत हो रहा है। क्या वाकई  भारत में  हालात इतने खराब है ? …

Read More

अफस्पा और उत्तर पूर्व

हाल ही मे खबर आई की केन्द्र सरकार ने पूर्वोत्तर भारत के मेघालय से पूर्णतः तथा अरुणाचल प्रदेश से आंशिक तौर पर अफस्पा हटाने का निर्णय लिया है। अब यह …

Read More

घटती बारिश और परंपरागत खेती में बदलाव की आवश्यकता

नवमासधृतं गर्भं भास्करस्य गभस्तिभः । पीत्वा रसं समुद्राणां द्यौः प्रसूते रसायनम् ॥   ~वाल्मीकि रामायण वाल्मीकि रामायण के इस श्लोक का अर्थ है कि, ‘नौ महीने तक आसमान ने सूर्य …

Read More

उत्तराखण्ड का एक गाँव जिसने लिखी पलायन रोकने की कहानी

सालिन्द्र सजवान गढ़वाल के सुदूर गाँव में रहता है, लेकिन बड़ी आसानी से ऑनलाइन बैंकिंग का उपयोग कर लेता है, सालिन्द्र एक ट्रैकिंग गाइड है और वह ख़ुशी-ख़ुशी अपने खाते …

Read More

क्यों भूले हम लाचित को!

जो देश अपने सपूतों को भूल जाता है उस देश के आत्मसम्मान को हीनता की दीमक चट कर जाता है। आक्रांताओं से लोहा लेकर देश की अस्मिता की रक्षा करने …

Read More

सीमाओं के मायने

सदियों से बनती-बिगड़ती एवम् नया रूप लेती सीमाएँ गाथा है शौर्य की, बलिदान, त्याग, रणनीति एवम् वैचारिक दृढ़ता की। सीमाएँ गाथा इन मूल्यों के कमज़ोर पड़ने की भी है। अतिश्योक्ति …

Read More

कन्याकुमारी

कन्या कुमारी तमिलनाडु प्रान्त के सुदूर दक्षिण तट पर बसा एक शहर है। यह हिन्द महासागर, बंगाल की खाड़ी तथा अरब सागर का संगम स्थल है, जहां विभिन्न सागर अपने …

Read More

डोकलाम पर जीत – विश्व पटल पर भारत की जोरदार दस्तक

जून 2017 में जब यह खबर आयी कि भारत, भूटान और चीन की सीमा से सटे डोकलाम पर चीन सड़क बनाने की कोशिश कर रहा है तो एक बार फिर …

Read More

उन्नीसवें कुशोक बकुला

विजयदशमी के अवसर पर माननीय सरसंघचालक मोहन~भागवत~जी ने कुशोक बकुला जी का नाम अपने उद्भोदन में लिया। उनके बारे और अधिक जानने की उत्सुकता मन में हुई। कुछ पुस्तकें देखी …

Read More

1967 में नाथु-ला और चो-ला में चीनी सेना कैसे हारी

भारत का चीन के खिलाफ 1962 के युद्ध में सुखद अनुभव नहीं रहा। हाँ यह एक हार थी, लेकिन यह प्रधान मंत्री जवाहरलाल नेहरू की अध्यक्षता में तत्कालीन राजनैतिक शीर्ष …

Read More

लुप्त हो रहे हैं ये खूबसूरत पर्यटन स्थल

भारत-चीन सीमा विवाद में लुप्त हो रहे हैं ये खूबसूरत पर्यटन स्थल – नेलांग घाटी उत्तराखंड के सीमावर्ती जिले उत्तरकाशी के हर्षिल सब-डिवीज़न में छिपे हुए, ऐतिहासिक रूप से प्रसिद्ध …

Read More

भारत का सीमान्त स्वरूप

भारत की भूमि पर सदियों के विदेशी शासन का 15 अगस्त 1947 को जब अन्त हुआ, तो वर्तमान भारत का नक्शा बना, जिसके पश्चिम में पाकिस्तान नाम का देश है। …

Read More